Product Detail

home / Product Detail

HEATSTROKE

Order Now

Gasping of Animals in the summer, fever due to Summer, ANOREXIC.
In summer increased respiration profuse sweat, heat and reduced intake.
गर्मिओ में पषु का हांफना, गर्मी की वजह से बुखार होना, भुख न लगना, दूध कम हो जाना पषु का Normal Temperature 25°f-65°f के बीच में रहता है। Temp अगर 80°f से ज्यादा हो जाये तो पषु को भूख नहीं लगती और इस वजह से पषु की Production of milk भी काफी ज्यादा कम हो जाती है। अगर पषु का Temp. 90°f के पास पहुंच जाये तो 3%-20% तक Output कम हो जाता है।
Cattle को Sweat इंसान के मुकाबले 10% ही आता है। अब अगर Humidity भी ज्यादा हो तो animal को Heat stress ज्यादा होता है। क्योंकि Humidity ज्यादा होने से evaporation नही होती तो evaporation के कारण जो cooling मिलती है वो नहीं मिलती। Animal को water sprinkling of body से evaporating cooling मिलती है। Main route जिससे पषु को Heat Stress से गर्मियों में बचाया जा सकता है वो हैevaporating cooling from respiratory Tract जैसे पषु का या कुत्ते का जीभ बाहर निकालना।
30-30 drops 3 times Over Roti or Atta Ka Pera.
30-30 बूंदे दिन में 3-4 बार आटे के आटे के पेड़े या रोटी पर लगा कर दें या 1-5 ml दवाई syringe से direct मुंह में डालें
Top